अकाली दल द्वारा मुख्यमंत्री के दादा के नाम पर स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी का नाम रखने समेत सभी बिल जबरदस्ती पास करने के लिए कांग्रेस सरकार की निंदा

Chhote Sahibzade

अकाली दल द्वारा मुख्यमंत्री के दादा के नाम पर स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी का नाम रखने समेत सभी बिल जबरदस्ती पास करने के लिए कांग्रेस सरकार की निंदा

Punjab E News :- शिरोमणी अकाली दल के विधायक दल ने आज विधानसभा में सभी बिल जबरदस्ती  पास करवाने के लिए कांग्रेस सरकार की सख्त निंदा की है। पार्टी ने पटियाला में बन रही स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी का नाम मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के दादा के नाम पर रखने के खिलाफ सख्त ऐतराज प्रकट किया है।

अकाली दल के विधायक विंग ने कहा कि बेहद अफसोस की बात है कि चर्चा से बचने के लिए कांग्रेस पार्टी ने बिलों की काॅपियों विधायकों को बांटे बिना ही कुछ ही मिनटों में विधानसभा में बिल पारित करने की कार्रवाई मुकम्मल कर दी। उन्होने कहा कि यह संसदीय प्रक्रिया से खिलवाड़ करना है।

विधायक विंग ने इस बात का सख्त नोटिस लिया कि कांग्रेस सरकार ने स्पोर्टस यूनिवर्सिटी का नाम छोटे साहिबजादों बाबा जोरावर सिंह तथा बाबा फतेह सिंह के नाम पर रखने संबधी लोगो द्वारा की जा रही मांग को पूरी तरह अनदेखा कर दिया तथा लोगों की भावनाओं की रती भर भी परवाह नही की। विंग ने कहा कि अपने धर्म तथा मानवीय मूल्यों की रक्षा के लिए अपनी जान न्यौछावर करने वाले दुनिया के  इतिहास में सबसे कम उम्र के शहीदों की सर्वोच्च कुर्बानी को यह एक श्रद्धांजलि होनी थी। विंग ने कहा कि यह बेहद दुख की बात है कि ऐसा करने की जगहकांग्रेस सरकार तथा इसके मंत्रियों ने चापलुसी की सभी हदें पार करते हुए इस यूनिवर्सिटी को महाराजा भूपिंदर सिंह के नाम पर रखने का सुझाव दिया।

यह टिप्पणी करते हुए कि जिस तरीके से छोटे साहिबजादे अपने धर्म तथा अत्याचार के खिलाफ डटे रहे थेपंजाब की जमीन का हर एक इंच उनका ऋणी हैविधायक विंग ने कहा कि अवसर मिलने पर अकाली दल द्वारा इस यूनिवर्सिटी का नाम छोटे साहिबजादों के नाम पर रखने के लिए ठोस कदम उठाए जाएंगे।

विधायक दल ने विधानसभा स्पीकर से कहा था कि चर्चा के लिए लाए जा रहे बिलों की काॅपियां विधायकों को पहले दी जाए। विंग ने कहा कि सरकार को असेंबली में लाए जाने बिलों के विषय नही छुपाने चाहिए तथा न ही बिलों को पास करने के लिए ताकत का इस्तेमाल करना चाहिए। यह इस गौरवशाली सदन की शान तथा परंपराओं के खिलाफ है


Aug 5 2019 9:51PM
Chhote Sahibzade
Source: Punjab E News

Crime News

Leave a comment