Breaking News

नई शिक्षा नीति को भी मोदी कैबिनेट की मंजूरी, HRD का नाम अब शिक्षा मंत्रालय

Education Policy 2019

नई शिक्षा नीति को भी मोदी कैबिनेट की मंजूरी, HRD का नाम अब शिक्षा मंत्रालय

मानव संसाधन विकास मंत्रालय का नाम शिक्षा मंत्रालय कर दिया गया है. यह फैसला मोदी कैबिनेट की बैठक के दौरान लिया गया है. इस बैठक के दौरान मोदी सरकार ने…

मानव संसाधन विकास मंत्रालय का नाम शिक्षा मंत्रालय कर दिया गया है. यह फैसला मोदी कैबिनेट की बैठक के दौरान लिया गया है. इस बैठक के दौरान मोदी सरकार ने नई शिक्षा नीति को भी मंजूरी दे दी है. इसके बारे में विस्तृत जानकारी सरकार की ओर से शाम 4 बजे होने वाली कैबिनेट ब्रीफिंग में दी जाएगी.

गौरतलब है कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने प्रस्ताव दिया था कि मंत्रालय का मौजूदा नाम बदल कर शिक्षा मंत्रालय कर दिया जाए. इस प्रस्ताव पर मोदी कैबिनेट ने मुहर लगा दी है. इसके साथ ही नई शिक्षा नीति को भी मंजूरी दे दी गई. अब पूरे उच्च शिक्षा क्षेत्र के लिए एक ही रेगुलेटरी बॉडी होगी ताकि शिक्षा क्षेत्र में अव्यवस्था को खत्म किया जा सके|

मानव संसाधन विकास मंत्रालय का नाम शिक्षा मंत्रालय कर दिया गया है. यह फैसला मोदी कैबिनेट की बैठक के दौरान लिया गया है. इस बैठक के दौरान मोदी सरकार ने नई शिक्षा नीति को भी मंजूरी दे दी है. इसके बारे में विस्तृत जानकारी सरकार की ओर से शाम 4 बजे होने वाली कैबिनेट ब्रीफिंग में दी जाएगी.

गौरतलब है कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने प्रस्ताव दिया था कि मंत्रालय का मौजूदा नाम बदल कर शिक्षा मंत्रालय कर दिया जाए. इस प्रस्ताव पर मोदी कैबिनेट ने मुहर लगा दी है. इसके साथ ही नई शिक्षा नीति को भी मंजूरी दे दी गई. अब पूरे उच्च शिक्षा क्षेत्र के लिए एक ही रेगुलेटरी बॉडी होगी ताकि शिक्षा क्षेत्र में अव्यवस्था को खत्म किया जा सके.

नई शिक्षा नीति के बाद हो सकते हैं ये सुधार

शिक्षा मंत्रालय ने उच्च शिक्षा के लिए एक ही रेगुलेटरी बॉडी ‘नेशनल हायर एजुकेशन रेगुलेटरी अथॉरिटी (एनएचईआरए) या हायर एजुकेशन कमिशन ऑफ इंडिया’ तय किया है. राष्ट्रीय शिक्षा नीति का निर्माण 1986 में किया गया था और 1992 में इसमें कुछ बदलाव किए गए थे. तीन दशक बाद भी कोई बड़ा बदलाव नहीं हुआ है.

केंद्र सरकार का मानना है कि शिक्षा के क्षेत्र में बड़े स्तर पर बदलाव की जरूरत है ताकि भारत दुनिया में ज्ञान का सुपरपावर बन सके. इसके लिए सभी को अच्छी क्वालिटी की शिक्षा दिए जाने की जरूरत है ताकि एक प्रगतिशील और गतिमान समाज बनाया जा सके.

शिक्षा मंत्रालय का प्राथमिक स्तर पर दी जाने वाली शिक्षा की क्वालिटी सुधारने के लिए एक नए राष्ट्रीय पाठ्यक्रम का फ्रेमवर्क तैयार करने पर जोर है. इस फ्रेमवर्क में अलग-अलग भाषाओं के ज्ञान, 21वीं सदी के कौशल, कोर्स में खेल, कला और वातारण से जुड़े मुद्दे भी शामिल किए जाएंगे.


Jul 29 2020 1:50PM
Education Policy 2019
Source:

Crime News

Leave a comment





Talhan Talhan

Latest post

रणवीर सिंह के साथ मुंबई स्थित घर पहुंचीं दीपिका पादुकोण, 26 सितंबर को NCB करेगी पूछताछ --- किसान विधयेक के विरोध में रेल रोको आंदोलन शुरू, पंजाब में राज्यव्यापी विरोध प्रदर्शन की घोषणा --- कृषि मंत्री नरेन्द्र तोमर को पंजाब कांग्रेस का 2017 का मैनीफैस्टो अच्छी तरह पढऩे के लिए कहा जो न्यूनतम समर्थन मूल्य के साथ छेड़छाड़ किए बिना ए.पी.एम.सी. एक्ट के नवीकरण की बात करता है --- राज्य के 9355 गांवों और शहरों में साप्ताहिक मुहिम के अंतर्गत करवाए गए जागरूकता प्रोग्राम यूथ क्लबों, एन.एस.एस. इकाईयों और रैड्ड रिबन क्लबों ने दिया योगदान --- कांग्रेस किसान विरोधी कानूनों को रद्द करवाने के लिए हर स्तर पर लड़ाई लड़ेगी: जाखड़ --- बिलों के साथ किसान, आढ़ती, मजदूर और मंडीकरण ढांचा तबाह हो जाएगा, तथाकथित सुधारों के नाम पर पंजाब की किसानी के साथ केंद्र ने किया द्रोह : राणा सोढी