सूचना एवं लोक संपर्क विभाग, पंजाब 550वें प्रकाश पर्व समागम के अवसर पर पंजाब को मिलेगा बिना सब्सिडी वाला 6,192 किलो लीटर मिट्टी का तेल

Food Civil Supplies &Consumer Affairs

सूचना एवं लोक संपर्क विभाग, पंजाब  550वें प्रकाश पर्व समागम के अवसर पर पंजाब को मिलेगा बिना सब्सिडी वाला 6,192 किलो लीटर मिट्टी का तेल

Punjab E News : श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व समागम के अवसर पर राज्य को बिना सब्सिडी वाला मिट्टी का तेल दिया जायेगा। यह जानकारी खाद्य, सिविल सप्लाई और खपतकार मामले विभाग के प्रमुख सचिव श्री के.ए.पी. सिन्हा ने दी।

इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि पंजाब सरकार द्वारा पैट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय (एम.ओ.पी और एन.जी.), भारत सरकार को साल 2019-20 में विशेष ज़रूरत के लिए ग़ैर-सब्सिडी वाला मिट्टी का तेल अलॉट करने के लिए की गई विनती पर विचार किया गया और राज्य को इस साल 6,192 किलो लीटर बिना सब्सिडी वाला पी.डी.एस. मिट्टी का तेल अलॉट किया गया है।

श्री सिन्हा ने बताया कि 550वें प्रकाश पर्व के अवसर पर साल भर चलने वाले समागमों को मनाने के लिए कई धार्मिक गतिविधियों जैसे कीर्तन, कथा, प्रभात फेरी, लंगर और शैक्षिक गतिविधियां जैसे सैमीनार, वर्कशॉप, लैक्चर आदि आयोजित किये जा रहे हैं। ऐसी सभी गतिविधियों में संगत /आम लोग बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेते हैं जिस कारण बड़े स्तर पर लंगर तैयार किया जाता है। इस लिए खाना पकाने के लिए और ज्य़ादा मात्रा में तेल की ज़रूरत है क्योंकि बड़े स्तर पर लकड़ी का प्रयोग करने से राज्य में प्रदूषण बढ़ेगा और साथ ही राज्य की हरियाली को नुकसान पहुँचेगा। इसलिए, संगत को श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के जश्न उचित ढंग और बड़े स्तर पर मनाने के लिए, पैट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय (एम.ओ.पी एंड एन.जी.), भारत सरकार ने विशेष ज़रूरत के लिए ग़ैर-सब्सिडी वाला मिट्टी का तेल अलॉट किया है। 

जि़लेवार वितरण के मुताबिक अमृतसर के लिए 636 किलो लीटर, बरनाला के लिए 96 किलो लीटर, बठिंडा के लिए 444 किलो लीटर, फरीदकोट के लिए 156 किलो लीटर, फतेहगढ़ साहिब के लिए 72 किलो लीटर, फाजि़ल्का के लिए 588 किलो लीटर, फिऱोज़पुर के लिए 480 किलो लीटर, गुरदासपुर के लिए 480 किलो लीटर, होशियारपुर के लिए 288 किलो लीटर, जालंधर के लिए 252 किलो लीटर, कपूरथला के लिए 240 किलो लीटर, लुधियाना के लिए 180 किलो लीटर, मानसा के लिए 204 किलो लीटर, मोगा के लिए 180 किलो लीटर, पठानकोट के लिए 216 किलो लीटर, पटियाला के लिए 228 किलो लीटर, रूपनगर के लिए 96 किलो लीटर, संगरूर के लिए 300 किलो लीटर और साहिबज़ादा अजीत सिंह नगर, शहीद भगत सिंह नगर, श्री मुक्तसर साहब और तरनतारन के लिए क्रमवार 72, 48, 360 और 576 किलो लीटर ग़ैर-सब्सिडी वाला पी.डी.एस. मिट्टी का तेल अलॉट किया गया है।

धार्मिक सरगर्मियाँ जैसे कीर्तन, कथा, प्रभात फेरी और लंगर गुरुद्वारों, धार्मिक संस्थाओं, सुखमनी सोसायटियों और अन्य धार्मिक संस्थाओं जैसे शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी, गुरू गोबिन्द सिंह स्टडी सर्कल, सिख मिशनरी कॉलेज आदि के द्वारा आयोजित किये जाएंगे। इसके अलावा शैक्षिक गतिविधियों जैसे सैमीनार, वर्कशॉप, लैक्चर आदि विभिन्न प्राथमिक और सेकेंडरी स्कूलों, कॉलेजों, यूनिवर्सिटियों आदि में आयोजित किये जाएंगे। प्रमुख सचिव ने बताया कि बिना सब्सिडी वाले पीडीएस मिट्टी के तेल की अलॉटमैंट के लिए कोई सब्सिडी नहीं होती, इसलिए मिट्टी के तेल की अलॉटमैंट मौजूदा थोक विक्रेताओं द्वारा उक्त संस्थाओं को प्रत्यक्ष रूप से की जायेगी। उन्होंने आगे बताया कि सब्सिडी वाली वस्तुओं का वितरण करने वाले राशन डीपू इस प्रक्रिया में शामिल नहीं होंगे और पीएसयू तेल कंपनी डिपूओं द्वारा थोक विक्रताओं को तेल की सीधी उठवाई करवाई जायेगी। खाद्य सप्लाई विभाग के जिला खाद्य सिविल सप्लाई (डी.एफ.एस.सी.) और अन्य क्षेत्रीय कार्यकर्ताओं की भूमिका सिफऱ् थोक विक्रेताओं को धार्मिक और शैक्षिक संस्थाओं द्वारा की विनतियाँ /शंकाओं को भेजने तक सीमित होगी।

उन्होंने आगे बताया कि परचून स्तर पर ग़ैर सब्सिडी वाले पीडीएस मिट्टी के तेल की बिक्री पैट्रोलियम एक्ट 1934 (नियम 2002) के अनुसार, प्रति ट्रांजैकशन 2500 लीटर तक सीमित होगी। हालाँकि, पहले लिए गए तेल के उपभोग के बाद उसी धार्मिक/शैक्षिक संस्था को फिर तेल देने पर कोई रोक नहीं होगी। थोक विक्रेता उपयोगिता सर्टिफिकेट डी.एफ.एस.सी. को जमा करवाएंगे जो इसको इक_ा करके आगे मुख्य दफ़्तर भेजेंगे जिससे भारत सरकार को इस सम्बन्धी अवगत कराया जा सके।

श्री सिन्हा ने बताया कि आम जनता, धार्मिक/शैक्षिक संस्थाएं जो श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व जश्न मना रही हैं, मिट्टी के तेल के उक्त कोटे का लाभ ले सकती हैं। उन्होंने बताया कि राज्य स्तरीय कोऑर्डीनेटर (तेल उद्योग), पंजाब को इस सम्बन्धी पहले ही लिख दिया गया है।

जि़क्रयोग्य है कि पत्र तारीख़ 31.05.2019 के द्वारा, पंजाब होलसेलजऱ् केरोसिन और एलडीओ डीलरज़ एसोसिएशन ने श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के अवसर पर पंजाब सरकार को ग़ैर -सब्सिडी वाला पी.डी.एस. मिट्टी का तेल देने के लिए विनती की थी। जिसके आधार पर राज्य सरकार ने यह मामला पैट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय (एम.ओ.पी और एन.जी.) के पास उठाया था।


Oct 10 2019 6:12PM
Food Civil Supplies &Consumer Affairs
Source: Punjab E News

Crime News

Leave a comment