पंजाब में मनरेगा माफिया गरीब किसानों तथा मजदूरों के लिए भेजे केंद्रीय फंडों में धांधली कर रहा हैः हरसिमरत बादल

MNREGA mafia pocketing central funds

पंजाब में मनरेगा माफिया गरीब किसानों तथा मजदूरों के लिए भेजे केंद्रीय फंडों में धांधली कर रहा हैः हरसिमरत बादल

Punjab E News :- केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत बादल ने आज कहा कि पंजाब में मनरेगा माफिया ने लूट मचा रखी हैजो गरीब किसानों तथा मजदूरों के लिए आने वाले केंद्रीय फंडों में बड़ा घपला कर रहा है। उन्होने केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरेंद्र तोमर को इस धोखाधड़ी के लिए जिम्मेदार कांग्रेसी पदाधिकारियों तथा अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की अपील की।

इस संबधी ग्रामीण विकास मंत्री को लिखे एक पत्र में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मीडिया रिपोर्टों के अनुसार भ्रष्ट अधिकारियों की मिली भगत से कांग्रेसी पदाधिकारियों द्वारा गरीब किसानों तथा मजदूरों के लिए आते केंद्रीय फंडों में हेराफेरियां की जा रही हैंजिससे राज्य में इस योजना पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ रहा है। उन्होने कहा कि 22 जिलों के 65 गांवों में किए एक यूजीसी अध्ययन के अनुसार इस योजना को सही ढं़ग से लागू नही किया जा रहा है तथा यह योजना साल में 100 दिनों की जगह औसतन 20.23 दिन ही रोजगार उपलब्ध करा सकती है। उन्होने कहा कि अध्ययन में कहा गया है  कि इस योजना के तहत सिर्फ 1.64 फीसदी लाभपात्रियों को ही 100 दिन काम दिया गया जबकि 21.29 फीसदी कार्यकर्ताओं को कोई भी काम नही दिया गया। श्रीमती बादल ने कहा कि रिपोर्टों के अनुसार लाभपात्रियों को जाॅब कार्ड लेने के लिए रिश्वत तक देनी पड़ी तथा बहुत सारे केसों में ऐसे जाॅब कार्ड अमीर किसानों के नाम पर बनाए गए।

ग्रामीण विकास मंत्री को इस मामले में तत्काल दखल देने की अपील करते हुए  बादल ने कहा कि केंद्रीय फंडों का दुरूपयोग करने वाले सभी व्यक्तियों के खिलाफ मुकद्में दर्ज किए जाने चाहिए। उन्होने केंद्रीय मंत्री को बठिंडा संसदीय निर्वाचन क्षेत्र के बुढ़लाडाबठिंडा ग्रामीण तथा भूच्चों में मनरेगा के कामों की जांच करने की अपील कीक्योंकि इन इलाकों में सरपंचों तथा स्थानीय कांग्रेसी नेताओं की मिली-भगत से सरकारी अधिकारियों द्वारा मनरेगा फंडो  का उच्च स्तर पर दुरूपयोग करने की शिकायते आ रही हैं।

 बादल ने केंद्रीय मंत्री को फरीदकोट जिलें में मनरेगा फंडों की गंभीर रूप से हुए दुरूपयोग के मुद्दे से भी अवगत करवाया। उन्होने कहा कि यह बात सामने आ चुकी है कि जो काम सार्वजनिक हितों के लिए किए जाने चाहिए थेवह निजी फार्म हाउसों को लाभ पहुंचाने के लिए किए गए हैं। इसके अलावा मजदूरी पर होने वाले खर्चे तथा सामग्री सबंधी बने नियमों की धज्जियां उड़ाई गई हैं। इस धोखाधड़ी की पोल इस बात से खुलती है कि रिकाॅर्ड में मर चुके व्यक्तियों को भी मजदूर दिखाया गया है।


Jul 11 2019 7:56PM
MNREGA mafia pocketing central funds
Source: Punjab E News

Crime News

Leave a comment