Breaking News

‘आप’ ने शराब माफिया पर नकेल डालने के लिए शराब निगम बनाने की मांग की, बजट सत्र के दौरान शराब निगम, बिजली समझौते रद्द करें व हितों के टकराव संबंधी प्राईवेट बिल स्पीकर को सौंपा

liquor mafia in Punjab

‘आप’ ने शराब माफिया पर नकेल डालने के लिए शराब निगम बनाने की मांग की, बजट सत्र के दौरान शराब निगम, बिजली समझौते रद्द करें व हितों के टकराव संबंधी प्राईवेट बिल स्पीकर को सौंपा

 Punjab E News :  आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब ने बजट सत्र के मद्देनजर विधान सभा के स्पीकर राणा के.पी. सिंह को मिल कर जहां बजट सत्र का समय कम से कम 25 दिन तक करने की मांग रखी वहीं राज्य में बेलगाम शराब माफिया को नकेल डालने के लिए ‘दा पंजाब स्टेट लीकर निगम बिल -2019’ पेश करने की इजाजत मांगी।

      विधान सभा परिसर में स्पीकर के साथ मुलाकात करने के उपरांत पार्टी के सीनियर नेता और विधायक अमन अरोड़ा, विधायक मनजीत सिंह बिलासपुर, कुलवंत सिंह पंडोरी, प्रवक्ता नील गर्ग और सतवीर वालीया ने बताया कि उन्होंने स्पीकर के पास तीन मुख्य मुद्दे उठाए। जिनमें दिल्ली और तामिलनाडु व अन्य राज्यों की तर्ज पर पंजाब में भी शराब निगम स्थापित के लिए बजट सत्र के दौरान आम आदमी पार्टी की ओर से अमन अरोड़ा द्वारा तैयार किए प्राईवेट बिल को सदन में पेश करने की इजाजत मांगना प्रमुख है। अमन अरोड़ा ने कहा कि आज एक तरफ पंजाब शराब की खप्त के लिए देश के अग्रणी राज्यों में शामिल है, जबकि शराब से राजस्व केवल साढ़े 5 हजार करोड़ ही इकट्ठा हो रहा है। उन्होंने दावा किया कि यदि शराब निगम को सही ढंग के साथ चलाया जाए तो करीब 12000 करोड़ राजस्व इकट्ठा हो सकता है और रोजगार भी पैदा होगा। उन्होंने मिसाल दी कि तामिलनाडु करीब 29000 करोड़ रुपए शराब से इकट्ठा करता है जबकि पंजाब की खप्त लगभग तामिलनाडु जितनी है। अरोड़ा ने कहा कि शराब माफिया और शराब फैक्टरियों के मालिक राज्यों में बड़े स्तर पर शराब तस्करी कर सरकारी खजाने को भारी चूना लगाते हैं।

      अमन अरोड़ा ने कहा कि निजी थर्मल प्लांटों के साथ पिछली बादल सरकार की तरफ से किए घातक बिजली खरीद समझौते (पीपीएज) रद्द करने सम्बन्धित इस बार फिर प्राईवेट मैंबर बिल ‘आप’ की तरफ से लाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इन घातक समझौतों के कारण जहां पंजाब में बिजली बेहद महंगी है, वहीं 25 सालों में सरकारी खजाने और लोगों पर 70 हजार करोड़ रुपए का फालतू और अनावश्यक वित्तीय बोझ पड़ रहा है। अमन अरोड़ा ने कोला वाश के लिए 4100 करोड़ के फालतू बोझ के बारे में भी सरकार को नालायक करार दिया। जिस कारण हाल ही दौरान 36 पैसे प्रति यूनिट बिजली महंगी की गई है। 

       अमन अरोड़ा ने बताया कि इस तरह हितों के टकराव के बारे में भी प्राईवेट मैंबर बिल का खरड़ा स्पीकर को सौंपा। अरोड़ा ने ‘कनफ्लिक्ट आफ इंट्रस्ट’ पर लगाम कसने के लिए एक विशेष कमीशन गठित करने की मांग रखी। उन्होंने कहा कि पिछली बादल सरकार की तरह कैप्टन की सरकार में मंत्री और अफसर अपने पदों का दुरुपयोग कर पंजाब और पंजाबियों को लूट रहे हैं। जिस को नकेल डालने के लिए ऐसा बिल और कमीशन जरूरी है।


Feb 19 2020 9:41PM
liquor mafia in Punjab
Source: Punjab E News

Crime News

Leave a comment





Tadlhan Talhan Talhan

Latest post

कोरोना वायरस के खिलाफ एकजुटता 9 बजे से 9 मिनट तक घर की जहाँ लाइट बंद, मोदी ने ट्वीट की यह मंगलकामना, पढ़े --- कोविड-19 के विरुद्ध जंग में ड्यूटी तन-मन से निभाकर मिसाल कायम करने वाले पुलिस मुलाजि़मों के सम्मान के लिए विशेष अवॉर्ड शुरू करने का फ़ैसला --- राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग ने पंजाब सरकार से भाई निर्मल सिंह खालसा के साथ मौत से पहले तथा बाद में हुए भेदभाव की जांच के लिए सिट का गठन करने के लिए कहा --- अकाली दल ने राज्य में दीर्घकालीन कर्फ्यू के कारण पैदा हुए समस्याओं के समाधान के लिए मुख्यमंत्री से सर्वदलीय बैठक बुलाने के लिए कहा --- मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने हजूरी रागी भाई निर्मल सिंह के पुत्र और भतीजे के साथ की बातचीत, देहांत पर दुख प्रकट किया और कोविड-19 पीडि़त पारिवारिक सदस्यों के इलाज में पूरी मदद का दिया भरोसा --- सुखबीर सिंह बादल द्वारा मोदी से ऑस्ट्रेलिया में भारतीय छात्रों की देखभाल का मुद्दा उठाने की अपील