अकाली दल ने राज्य में दीर्घकालीन कर्फ्यू के कारण पैदा हुए समस्याओं के समाधान के लिए मुख्यमंत्री से सर्वदलीय बैठक बुलाने के लिए कहा

call an all party meeting

अकाली दल ने राज्य में दीर्घकालीन कर्फ्यू के कारण पैदा हुए समस्याओं के समाधान के लिए मुख्यमंत्री से सर्वदलीय बैठक बुलाने के लिए कहा

Punjab News : शिरोमणी अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से कहा है कि कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई के लिए राज्य में लंबे समय से लगाए गए कर्फ्यू से लोगों को  रही परेशानियों का समाधान ढ़ूंढ़ने के लिए वह एक सर्वदलीय मीटिंग बुलाएं।

      मुख्यमंत्री को लिखे एक पत्र में अकाली दल अध्यक्ष ने कहा कि लंबे समय से लगे कर्फ्यू ने किसानोंस्वास्थ्य कर्मचारियोंव्यापारियोंदिहाड़ीदारों समेत आम लोगों के लिए कई तरह की समस्याएं खड़ी कर दी हैं। उन्होने कहा कि इससे पहले कि यह समस्याएं नियंत्रण से बाहर होकर हर सैक्टर में तबाही मचा दे तथा हर वर्ग के लोगों की समस्याओं को बढ़ा दे हमें तत्काल इनका समाधान ढ़ूंढ़ने की आवश्यकता है।

         बादल ने कहा कि चाहे गेंहू की कटाई सिर पर  गई हैपरंतु पूरे देश में लॉकडाउन के कारण मजदूरों तथा कंबाईन हार्वेस्टरों की भारी कमी पाई जा रही है। उन्होने कहा कि इसके अलावा खरीदी गेंहूं को उठाने के लिए विशेष प्रबंध किए जाने की आवश्यकता हैक्योंकि कोरोना वायरस के खतरे के कारण किसानों तथा व्यापारियों के बड़े इकट्ठ की आज्ञा नही दी  जा सकती। इन मुद्दों को तत्काल हल करने की आवश्यकता पर जोर देते हुए उन्होने कहा कि ऐसा  होने की सूरत में देश में अनाज का संकट पैदा हो सकता है।

       राज्य में आवश्यक वस्तुओं की बुरी तरह प्रभावित हुई आपूर्ति श्रंखला के बारे बोलते हुए अकाली दल अध्यक्ष ने कहा कि लंबे समय के कर्फ्यू के कारण बहुत सारे लोगों के पास खाने पीने की वस्तुएंदवाईयांफल तथा सब्जियां भी खत्म हो गई हैं। उन्होने कहा कि राज्य के हर नागरिक के लिए इन प्राथमिक चीजों की सप्लाई को तत्काल बहाल किया जाना चाहिएक्योंकि ऐसा करने से प्रशासन को पंजाबियों को घरों में रखने में मदद मिलेगी तथा कोरोना वायरस के खिलाफ यह लड़ाई ज्यादा प्रभावी होगी। उन्होने कहा कि पशुओं के लिए चारे की सप्लाई बुरी तरह बाधित हुई हैइसे तत्काल ठीक करने की आवश्यकता है।

         कोविड-19 के खिलाफ इस लड़ाई में स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी के बारे मुख्यमंत्री को अवगत करवाते हुए अकाली दल अध्यक्ष ने कहा कि कोरोना के मरीजों का उपचार कर रहे डॉक्टरोंनर्सों तथा बाकी मैडिकल स्टाफ के पास पीपीई किटें तक नही हैं। उन्होने कहा कि अस्पतालों में वेंटिलेटरोंदवाईयां तथा बाकी मैडिकल उपकरणों की भारी कमी पाई जा रही है।उन्होने कहा कि इस लड़ाई को सबसे आगे होकर लड़ रहे मैडिकल स्टाफ के पास यदि स्वयं को बचाने के लिए सुरक्षा किटें ही नही होंगी तो वह यह लड़ाई कैसे लड़ सकते हैं। उन्होने कहा कि सरकार को सभी अस्पतालों तथा मैडिकल स्टाफ से यह सुविधाएं उपलब्ध कराने के बारे रास्ते तलाशने चाहिए।

सरदार बादल ने कहा कि प्रसिद्ध रागी भाई निर्मल सिंह खालसा की कोरोना से पीड़ित होने के बाद सरकारी अस्पताल अमृतसर में सही उपचार  होने के कारण हुई मौत ने सिख समुदाय को गुस्से तथा निराशा से भर दिया है। उन्होने कहा कि कोरोना के मरीजों का उपचार कर रहे सरकारी अस्पतालों से लोगों विश्वास उठ चुका है। उन्होने कहा कि कितनी दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि भाई खालसा के साथ हुए दुर्व्यवहार के बारे ऑडियो क्लिप का सबूत होने के बावजूद राज्य सरकार ने इसके लिए जिम्मेदार व्यक्तियों को क्लीन चिट देकर मामले को रफा दफा करने का प्रयास किया है। उन्होने कहा कि जिस तरीके से भाई खालसा का अंतिम संस्कार करने से रोका गया थाउससे सिखों की भावनाओं को ठेस पहुंची है।

सरदार बादल ने कहा कि कर्फ्यू ने राज्य में हर तरह की व्यवसायिक गतिविधियों को ठप्प कर दिया हैजिसके कारण व्यापारियोंउद्योगपतियों तथा छोटे दुकानदारों को भारी घाटा पड़ रहा है। उन्होने कहा कि गरीबों तथा दिहाड़ीदारों को सबसे ज्यादा तकलीफ झेलनी पड़ रही हैक्योंकि उनके पास अपने परिवारों का पेट भरने का कोई साधन नही है। उन्होने मुख्यमंत्री से उन सिख श्रद्धालुओं के बारे भी अवगत करवाया जो नांदेड़ साहिब में फंसे हुए हैं तथा उन्हे तत्काल वापिस लाने की आवश्यकता है।

सरदार बादल ने मुख्यमंत्री को इन सभी मुद्दो पर सर्वदलीय बैठक में विस्तार से चर्चा करने का अनुरोध किया ताकि पंजाब के लोगां को घरों में रखकर महामारी के खिलाफ लड़ाई में राज्य सरकार की सहायता की जा सके।


Apr 5 2020 9:19PM
call an all party meeting
Source: Punjab News

Crime News

Leave a comment