CBSE: आसान होगी इस बार की परीक्षा, पैटर्न में हुए बदलाव

cbse exams pattern change

CBSE: आसान होगी इस बार की परीक्षा, पैटर्न में हुए बदलाव

punjab e news - सीबीएसई इस बार दसवीं और बारहवीं की परीक्षाएं हर बार के मुकाबले लगभग दो हफ्ते पहले शुरू कर रहा है। इससे छात्रों में थोड़ा पैनिक जरूर देखने को मिला लेकिन राहत की बात यह है कि इस बार प्रश्नपत्र के पैटर्न में कई बदलाव किए हैं जिससे पेपर आसान हो गया है।

 

   पेपर में हुए इन स्टूडेंट फ्रेंडली बदलावों से छात्रों को के लिए खासा आसानी होगी। बता दें कि इस साल 15 फरवरी से सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं शुरू हो रही हैं। इस बार ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्नों की संख्या बढ़ा दी गई है। इसके अलावा इस बार प्रश्नों के विकल्प भी बढ़ाए गए हैं।

 

    एक अधिकारी ने बताया, 'हर बार लगबग 10 प्रतिशत प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप होते हैं। हालांकि, इस साल 25 फीसदी प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप होंगे। इससे छात्रों का आत्मविश्वास बढ़ेगा और वे अच्छे अंक हासिल कर सकेंगे।' उन्होंने आगे बताया, 'अगर कोई छात्र किसी प्रश्न को लेकर कॉन्फिडेंट नहीं है तो उसके पास लगभग 33% प्रश्न विकल्प के तौर पर मौजूद होंगे।' इस बार छात्रों को ज्यादा व्यवस्थित प्रश्नपत्र मिलेगा।

 

    हर पेपर में कई सब सेक्शन्स में बंटे होंगे। उदाहरण के लिए, सारे ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्न एक ही सेक्शन में होंगे। इसके बाद अधिक अंकों वाले सवाल एक साथ होंगे। बोर्ड ने किसी भी पेपर को लीक होने से बचाने के लिए भी कुछ कदम उठाए हैं। सीबीएसई की परीक्षाओं में इस बार 10 बजे के बाद परीक्षा केंद्रों में स्टूडेंट्स को एंट्री नहीं मिलेगी। आधे घंटे पहले परीक्षा केंद्र पहुंचना अनिवार्य होगा। सीबीएसई ने परीक्षाओं के लिए 4 नए बदलाव किए हैं। सभी छात्रों को स्कूल यूनिफॉर्म में ही प्रवेश दिया जाएगा। सुबह साढ़े 10 बजे से परीक्षा शुरू होगी। इस बार प्रवेश पत्र पर स्टूडेंट्स और प्रिंसिपल के साथ ही अभिभावकों के भी हस्ताक्षर जरूरी होंगे। ऐसा नहीं होने पर छात्रों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। परीक्षा के दौरान छात्र अपने साथ केवल कलम, प्रवेश पत्र और पारदर्शी बैग ही लेकर जा सकेंगे।

    डायबिटीज के रोगियों को स्नैक्स ले जाने की दी गई है। किसी भी हालत में कोई लिखित सामग्री, मोबाइल, पर्स और स्मार्टवॉच ले जाने की अनुमति नहीं होगी। परीक्षा केंद्रों पर जिन परीक्षा नियंत्रकों को गोपनीय दस्वावेज संभालने होते हैं, उनकी रियल टाइम ट्रैकिंग की जाएगी। बता दें कि पिछले साल दसवीं का गणित और बारहवीं का अर्थशास्त्र का पेपर लीक हो गया था। इससे इस बार भी बोर्ड के पेपर को लेकर छात्रों में संदेह है।


Feb 13 2019 11:44AM
cbse exams pattern change
Source: punjab e news

Crime News

Leave a comment