सुखबीर बादल द्वारा फर्जी मुठभेड़ में सिख नौजवानों को मारने वाले दोषी पुलिस अधिकारियों की शीघ्र रिहाई की सिफारिश करने के लिए मुख्यमंत्री की निंदा

fake encounter

सुखबीर बादल द्वारा फर्जी मुठभेड़ में सिख नौजवानों को मारने वाले दोषी पुलिस अधिकारियों की शीघ्र रिहाई की सिफारिश करने के लिए मुख्यमंत्री की निंदा

Punjab E News :  शिरोमणी अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने आज सिख नौजवानों को नकली मुठभेड़ में मारने वाले पुलिस अधिकारियों की शीघ्र रिहाई की सिफारिश करने के लिए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की सख्त निंदा की है।

एक प्रेस बयान जारी करते हुए अकाली दल अध्यक्ष ने कहा कि क्या यह सिख धर्म के संस्थापक श्री गुरु नानक देव जी महाराज के 550वें प्रकाश पर्व के अवसर पर कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा सिख भाईचारे को दिया उपहार हैउन्होने कहा कि इन पुलिस अधिकारियों को बेरहमी से कत्ल करने के दोषों में अदालत द्वारा सजा दी गई थी तथा कई मामलों में इन्होने सजा का चैथाई भाग भी नही भुगता है। तो फिर किस आधार पर कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने इन पुलिस अधिकारियों की रिहाई की सिफारिश की हैयह बात किसी भी तर्कपूर्ण व्यक्ति की समझ से परे है। उन्होने कहा कि यह कार्रवाई न्यायइंसाफ तथा सभ्य समाज के नियमों के भी खिलाफ है। यदि अदालतों द्वारा सुनाए फैसलों के खिलाफ जाकर इस तरह कातिलों को रिहा किया जाएगा तो इससे समुची न्यायिक प्रक्रिया का मजाक बनेगा।

अकाली दल अध्यक्ष ने कहा कि इस तरह की कार्रवाईयां मुख्यमंत्री के सिख भावनाओं से जुड़े सभी मसलों के प्रति पाखंड भरे व्यवहार की पोल खोलती हैं। उन्होने कहा कि वह 1984 से लेकर सिखों के दुखांत पर मगरमच्छ के आंसू बहाता आ रहा है। परंतु जब भी सिख भाईचारे के लिए कुछ करने का समय आया है तो उसने हमेशा सिखों की पीठ में छूरा घोपा है। ताजा कार्रवाई मुख्यमंत्री के ऐसे रवैये का एक और घिनौना उदाहरण है।

अकाली दल अध्यक्ष ने यह भी बताया कि जिन पुलिस अधिकारियों की शीघ्र रिहाई की कांग्रेस सरकार द्वारा सिफारिश की गई हैउन्होेने सभी अपराध वर्दी में किए हैं। उन्होने कहा कि वह बड़े स्तर पर मानवीय अधिकारों के उल्लंघन के भी दोषी हैं। इसीलिए उन्हे पूरी सजा भुगतनी चाहिए तथा कोई राहत नही दी जानी चाहिए।


Oct 16 2019 4:07PM
fake encounter
Source: Punjab E News

Crime News

Leave a comment