पी.एस.पी.सी.एल. द्वारा बड़े स्तर पर भर्ती करने का फ़ैसला; 1745 पद भरे जाएंगे, मुख्यमंत्री के स्वप्रमयी प्रोजैक्ट ‘घर-घर रोजग़ार’ को बढ़ावा देने की दिशा में होगा अहम योगदान

ghar ghar rozghar

पी.एस.पी.सी.एल. द्वारा बड़े स्तर पर भर्ती करने का फ़ैसला; 1745 पद भरे जाएंगे, मुख्यमंत्री के स्वप्रमयी प्रोजैक्ट ‘घर-घर रोजग़ार’ को बढ़ावा देने की दिशा में होगा अहम योगदान
 Punjab E News :-  नौजवानों को नौकरियाँ देने के लिए शुरू किये पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के स्वप्रमयी और महत्वपूर्ण प्रोजैक्ट ‘घर-घर रोजग़ार मिशन’ को बढ़ावा देते हुए पंजाब स्टेट पावर कॉर्पोरेशन लिमिटड (पी.एस.पी.सी.एल) ने बड़े स्तर पर नौजवानों की भर्ती करने का फ़ैसला लेते हुए विभिन्न पदों की 1745 रिक्तियां भरने का फ़ैसला किया है।
आज यहाँ जारी प्रैस बयान के द्वारा जानकारी देते हुए पी.एस.पी.सी.एल के चेयरमैन-कम-मैनेजिंग डायरैक्टर (सी.एम.डी.) इंजीनियर बलदेव सिंह सरां ने बताया कि इस भर्ती के साथ जहाँ राज्य के नौजवानों को रोजग़ार मिलेगा वहीं पंजाब के लोगों को सस्ती और निर्विघ्न बिजली की सेवा भी प्रदान होगी।
इंजीनियर सरां ने आगे बताया कि पी.एस.पी.सी.एल. ने योग्य उम्मीदवारों से ऑनलाइन आवेदन पत्र माँगे हैं जिस सम्बन्धी सारी जानकारी और विधि पोर्टल पर दी गई है।
सी.एम.डी. ने आगे बताया कि इन पदों के लिए एक आउट सोर्सड एजेंसी द्वारा परीक्षा ली जायेगी। इसके उपरांत नतीजे का ऐलान किया जायेगा और मेरिट में आने वाले उम्मीदवारों को दस्तावेज़ चैक करवाने के लिए बुलाया जायेगा। दस्तावेज़ों की पड़ताल के बाद चुने हुए उम्मीदवारों को चयन पैनल द्वारा नियुक्ति पत्र दिए जाएंगे। इन पदों के लिए कोई इंटरव्यू नहीं होगा बल्कि उम्मीदवारों का चयन पारदर्शी रूप से मेरिट के आधार पर किया जायेगा।
पदों संबंधी विस्तार में जानकारी देते हुए इंजीनियर सरां ने बताया कि 1000 लोअर डिविजऩ क्लर्क, 500 जूनियर इंजीनियर /इलैक्ट्रिकल, 110 जूनियर इंजीनियर /सिविल, 54 राजस्व लेखाकार, 45 इलैक्ट्रिकल ग्रेड-2, 26 सुपरडैंट (डिवीजनल अकाऊंटस), 50 स्टैनोटाईपिस्ट, 9 इंटरनल ऑडिटर और 4 अकाउँट अफसरों सम्बन्धी इश्तिहार दिया गया है। यह भर्ती प्रक्रिया 6 से 8 महीनों के दरमियान मुकम्मल कर ली जायेगी। 
सी.एम.डी. ने आगे बताया कि इन पदों की भर्ती के साथ जहाँ पी.एस.पी.सी.एल के उत्पादन में विस्तार होगा वहीं पंजाब की बेरोजग़ारी घटेगी और विभाग की कार्यकुशलता भी बढ़ेगी। ट्रांसमिशन और वितरण के घाटे घटने से राज्य निवासियों को सस्ती और निर्विघ्न बिजली सेवा मुहैया होगी।
इंजीनियर सरां ने यह भी बताया कि पी.एस.पी.सी.एल. द्वारा मार्च 2017 से लेकर अब तक ढाई साल के अरसे के दौरान 1035 मृतक मुलाजिमों के वारिसों को भी नौकरी दी गई जिनमें से 824 को दर्जा तीन और 211 को दर्जा चार में नौकरी दी गई है।

Sep 4 2019 5:56PM
ghar ghar rozghar
Source: Punjab E News

Crime News

Leave a comment