Breaking News

कैप्टन अमरिन्दर सिंह द्वारा तीन हवालातीयों द्वारा जेल से भागने के मामले की न्यायिक जांच के आदेश, जेल सुरक्षा के लिए जि़म्मेदार व्यक्तियों के भी तुरंत निलंबन के आदेश सुरक्षा में गंभीर लापरवाही को देखते हुए जेलों की सुरक्षा की समीक्षा करने तथा और मज़बूत करने के दिए आदेश

jail break

कैप्टन अमरिन्दर सिंह द्वारा तीन हवालातीयों द्वारा जेल से भागने के मामले की न्यायिक जांच के आदेश, जेल सुरक्षा के लिए जि़म्मेदार व्यक्तियों के भी तुरंत निलंबन के आदेश सुरक्षा में गंभीर लापरवाही को देखते हुए जेलों की सुरक्षा की समीक्षा करने तथा और मज़बूत करने के दिए आदेश
Punjab E News :  पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने रविवार को केंद्रीय जेल अमृतसर में से तीन हवालातीयों के भागने के मामले की न्यायिक जांच जालंधर डिवीजऩ के कमिश्नर को करने के आदेश दिए हैं। इसके साथ ही उन्होंने जेल सुरक्षा के लिए जि़म्मेदार व्यक्तियों को पैंडिंग जांच के साथ तुरंत निलंबित करने के हुक्म दिए हैं।
मुख्यमंत्री ने यह घटना जो प्रात:काल 3.20 बजे घटी, के घटने के दो घंटों के अंदर-अंदर ए.डी.जी.पी जेल को  जेलों की सुरक्षा पूरी चौकस करने के आदेश देते हुए कहा कि भागने वाले हवालातियों को पकडऩे के लिए राज्य स्तर पर तलाशी अभियान शुरु कर दिया गया है। सीसीटीवी फुटेज के अनुसार भागने वाले हवालाती बैरक तोड़ते ही जेल की अंदरूनी और बाहरी दीवार फांद कर फरार हो गए।
    सुरक्षा में लापरवाही का गंभीर नोटिस लेते हुए मुख्यमंत्री ने जेल की सुरक्षा की समीक्षा के साथ-साथ इसे और मज़बूत करने के हुक्म दिये। उन्होंने न केवल इस जेल की बल्कि राज्य की अन्य जेलों की भी कड़ी सुरक्षा के हुक्म दिये।
     शुरूआती रिपोर्ट्स के अनुसार इस जेल में मौजूद अन्य कैदियों ने जेल गार्डों को इन हवालातियों के भागने संबंधी सचेत भी किया था जिनमें फरार हुए हवालतियों में से एक का भाई भी शामिल है। प्राथमिक जांच के अनुसार भागने वालों को अभी तक बाहर से किसी भी तरह की मदद का सबूत नहीं मिला है जिससे सिद्ध होता है कि अहाता नंबर 2 की बैरक नंबर 7 के 61 कैदियों में से ये तीन हवालाती कैदी अपने आप भागे हैं।
        डीजीपी दिनकर गुप्ता ने अन्य विवरण जारी करते हुए बताया कि भागने वालों ने बैरक की दीवार में से 10 ईंटें निकाल कर एक छेद बना लिया था। पहले उन्होंने अंदरूनी दीवार कूदी जोकि 16 फुट के करीब ऊँची थी और फिर बाहरी दीवार कूदी जोकि 21 फुट के करीब ऊँची थी। इसको कूदने के लिए उन्होंने स्टील बार की हुक का इस्तेमाल किया और सीढ़ी बनाने के लिए रज़ाई के कवर का प्रयोग किया। अंत में वह टावर नंबर 10 के पास से जेल कंपलैक्स में से भाग गए जो सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में नहीं है।

       भागने वाले हवालाती में से एक की पहचान विशाल पुत्र सतीश कुमार आयु 22 वर्ष निवासी अरा कालोनी, मजीठा रोड, अमृतसर के तौर पर हुई है जिसके खि़लाफ़ थाना छेहरटा में 2 अप्रैल 2019 को पोसको एक्ट की धारा 376 के अंतर्गत 51 नंबर एफ आई आर दर्ज थी। वह जेल में 5 अप्रैल 2019 से बंद था। बाकी दो भाई हैं जिनकी पहचान गुरप्रीत पुत्र सुखदेव सिंह आयु 34 वर्ष और जरनैल पुत्र सुखदेव सिंह आयु 25 वर्ष निवासी चंडीगढ़ रोड, खडूर साहिब, तरनतारन के तौर पर हुई। इनके खि़लाफ़ अमृतसर बी डिवीजऩ थाने में आई पी सी की धारा 379-बी और 395 के अंतर्गत एफ आई आर नंबर 165/18 और आईपीसी की धारा 399, 402 के अंतर्गत एफ आई आर नंबर 41/19 दर्ज थी। यह दोनों जेल में 8 जुलाई 2019 से बंद थे। 
     डी जी पी ने बताया कि भागने वाले विशाल का भाई गौरव भी उसी बैरक में था जो नहीं भागा। 

Feb 2 2020 4:01PM
jail break
Source: Punjab E News

Crime News

Leave a comment





Tadlhan Talhan Talhan

Latest post

‘आप’ ने शराब माफिया पर नकेल डालने के लिए शराब निगम बनाने की मांग की, बजट सत्र के दौरान शराब निगम, बिजली समझौते रद्द करें व हितों के टकराव संबंधी प्राईवेट बिल स्पीकर को सौंपा --- इनोसैंट हाट्र्स ग्रुप आफ इंस्टीटयूशंस में इंटर डिर्पाटमैंट फेस्ट एस्परैंजा-2020 किया गया आयोजित --- अकाली दल द्वारा बिजली की दरों में बढ़ोतरी, बिजली घोटाले तथा बहबलकलां पुलिस फायरिंग के पीड़ितों को न्याय प्रदान करने जैसे ज्वलंतशील मुद्दों पर चर्चा करने के लिए 15 दिवसीय बजट सत्र की मांग --- योगी सरकार को झटका : रेप मामले में उत्तर प्रदेश के बीजेपी MLA के खिलाफ़ FIR --- प्रदर्शनकारियों से बातचीत करने के लिए शाहीन बाग पहुंचे वार्ताकार ट्विटर पर भी मांगे सुझाव --- भारत के कप्तान विराट कोहली के जानिए - क्या है फ्यूचर प्लान