दलबीर ढ़िलवां केस के दोषियों के आत्मसमर्पण के लिए बटाला पुलिस रंधावा के साथ मिलीभगत से काम कर रही हैः अकाली दल

jails minister

दलबीर ढ़िलवां केस के दोषियों के आत्मसमर्पण के लिए बटाला पुलिस रंधावा के साथ मिलीभगत से काम कर रही हैः अकाली दल

Punjab E News :  शिरोमणी अकाली दल ने आज कहा कि पूर्व अकाली सरपंच दलबीर ढ़िलवां के बेरहमी से किए कत्ल के मामले में अदालती सुनवाई की पूर्व संध्या पर फटकार से बचने के लिए तथा लोगों की आंखों में धूल झोंकने के लिए बटाला पुलिस जेल मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा के साथ मिलकर दोषियों के आत्मसमर्पण का ड्रामा रच रही है।

          एक प्रेस बयान जारी करते हुए पूर्व मंत्री महेशइंदर सिंह ग्रेवाल ने कहा कि बटाला पुलिस ने पहले इस जघन्य हत्या की जांच शुरू करने से पहले ही जेलमंत्री को क्लीन चिट् दे दी थी  तथा इस मामले में कोई कार्रवाई करने से पैर खींच लिए थे। उन्होने कहा कि अब जब इसकी अदालत द्वारा फटकार होने लगी तो यह हर अदालती सुनवाई के दौरान एक दोषी को पेश करने का ड्रामा रच रही है ताकि अदालत में यह कह सके कि यह पूर्व सरपंच के हत्यारों को पकड़ने के लिए पूरा जोर लगा रही है।

        अन्य जानकारी देते हुए ग्रेवाल ने कहा कि मेजर सिंह नाम के एक दोषी को खुफिया जानकारी मिलने के बाद गिरफतार किया दिखाया गया है जबकि सच्चाई यह है कि कल अदालती सुनवाई के दौरान फटकार से बचने के लिए योजनाबद्ध तरीके से दोषी से समर्पण करवाया गया है। उन्होने कहा कि इससे पहले भी दो दोषियों बलविंदर तथा अमृतपाल सिंह द्वारा किए समर्पण को गिरफतारियों के तौर पर दिखाया जा चुका है।

       अकाली नेता ने कहा कि दलबीर ढ़िलवां की हत्या को ढ़ाई महीने हो चुके हैं तथा अभी तक चारो दोषी खुले घूम रहे हैं। उन्होने कहा कि यह इसीलिए हो रहा हैक्योंकि जेलमंत्री बटाला पुलिस को इस केस में कार्रवाई करने से रोक रहा है। उन्होने कहा कि अफसोस की बात है कि बटाला एसएसपी उपिंदरजीत घूमंण भी इस केस में कांग्रेस पार्टी का पक्ष ले रहा है तथा दोषियों को गिरफतार करने में टालमटोल कर रहा है। उन्होने कहा कि यहां तक कि जिन्हे गिरफतार दिखाया जा चुका हैउन्होने ही योजनाबद्ध तरीके से आत्मसमर्पण किया है। उन्होने कहा कि यह बेहद निंदनीय बात है कि पुलिस इस केस में नरमी करके दोषियों की सहायता कर रही है तथा यह भी दावा कर रही है कि यह कत्ल आपसी रजिंश के कारण हुआ है। पुलिस इसे राजनीतिक हत्या का मामला मानकर जांच करने से टालमटोल कर रही है।

          ग्रेवाल ने कहा कि अकाली दल दलबीर ढ़िलवां के परिवार के साथ है तथा इस केस में न्याय सुनिश्चित करवाने के लिए पूर्व सरपंच की नव- विवाहिता बेटी नवनीत समेत सभी पारिवारिक सदस्यों की पूरी सहायता करेगा। उन्होने कहा कि यह केस इसीलिए महत्वपूर्ण हैक्योंकि यह मंत्री- गैंगस्टर-पुलिस गठजोड़ तथा कांग्रेसी नेताओं द्वारा गैंगस्टरों के किए जा रहे सरंक्षण का पर्दाफाश करता है। उन्होने कहा कि हम पहले ही दिखा चुके हैं कि किस तरह सुखजिंदर रंधावा ने जेल में जग्गू भगवानपुरिया का बचाव किया है तथा इसका पंजाब के डीजीपी को सबूत भी दे चुके हैं। उन्होेने कहा कि सुखजिंदर रंधावा मंत्रालय से इस्तीफा देकर खुद को स्वतंत्र जांच के लिए पेश करने में विफल रहा हैपर हम इस संबधी सभी तथ्य अदालत तथा लोगों के आगे लाना जारी रखेंगे ताकि दलबीर ढ़िलवां के हत्यारों को सजा दिलाई जा सके।

Jan 29 2020 7:34PM
jails minister
Source: Punjab E News

Crime News

Leave a comment