Breaking News

मुख्यमंत्री जिम्मेदारियों से भाग रहा है तथा एक अभ्यस्त अपराधी की तरह व्यवहार कर रहा हैः बिक्रम मजीठिया, कहा कि मुख्यमंत्री को यह शोभा नही देता कि वह राज्य की ओर बकाया लंगर वाले 3.27 करोड़ रूपए के स्टेट जीएसटी रिफंड के बारे सिख संगत को मुर्ख बनाने का प्रयास करे

state gst share on langar

मुख्यमंत्री जिम्मेदारियों से भाग रहा है तथा एक अभ्यस्त अपराधी की तरह व्यवहार कर रहा हैः बिक्रम मजीठिया, कहा कि मुख्यमंत्री को यह शोभा नही देता कि वह राज्य की ओर बकाया लंगर वाले 3.27 करोड़ रूपए के स्टेट जीएसटी रिफंड के बारे सिख संगत को मुर्ख बनाने का प्रयास करे

Punjab E News :  शिरोमणी अकाली दल के महासचिव बिक्रम सिंह मजीठिया ने आज कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह अपनी जिम्मेदारियों से भाग रहा है तथा श्री दरबार साहिब तथा राज्य के बाकी धार्मिक संस्थानों के लिए लंगर पर स्टेट जीएसटी का हिस्सा रिफंड करने के वादे से मुकर कर अभ्यस्त अपराधी की तरह व्यवहार कर रहा है।


यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए बिक्रम सिंह मजीठिया ने कहा कि एक मुख्यमंत्री को यह शोभा नही देता कि वह ऐसे बयान देकर सिख संगत को मुर्ख बनाने की कोशिश करे कि एसजीपीसी को देने के लिए लंगर पर स्टेट जीएसटी रिफंड का पैसा अमृतसर के डिप्टी कमिशनर के पास पहुंचा दिया गया है, जबकि शिरोमणी कमेटी द्वारा अनेक बार की कोशिशों के बावजूद एक पैसा जारी नही किया जा रहा है। उन्होने कहा कि पर तुम किसी ऐसे व्यक्ति से क्या उम्मीद कर सकते हो जिसने गुटका साहिब तथा श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के चरणों की झूठी शपथ खाई हो।

              मजीठिया ने कहा कि कितनी हैरानी की बात है कि जो इंसान अनेक बार झूठ बोलता पकड़ा जा चुका हो, वह कांग्रेस सरकार को जीएसटी रिफंड का वादा पूरा करने के लिए कहने वाली केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल को झूठा करार दे रहा है। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री की मीडिया टीम यह स्वीकार करने के लिए बधाई की हकदार है कि 3.27 करोड़ रूपए का बकाया जीएसटी रिफंड अभी तक एसजीपीसी को नही दिया गया है। इससे साबित होता है कि हरसिमरत बादल ने मुख्यमंत्री को अपना वादा पूरा करने के लिए कहकर सिख संगत की भावनाओं को प्रकट किया था। यह वादा पूरा करने की जगह मुख्यमंत्री ने एक लंबी कहानी सुना दी, जिसका  अर्थ यह था कि जीएसटी रिफंड के लिए मंजूरी दी जा चुकी है पर महीनों से एक भी पैसा एसजीपीसी को जारी नही किया गया।

        यह कहते हुए कि एक केंद्रीय मंत्री तथा पंजाब की बेटी के साथ ऐसा बर्ताव करना बिल्कूल ही गलत था, मजीठिया ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर को घटिया राजनीति नही करनी चाहिए। उन्होने कहा कि सच्चाई यह है कि तुमने 22 मार्च 2018 को विधानसभा में डेस्कों पर  हो रही थपथपाहट  दौरान घोषणा की थी कि श्री दरबार साहिब, बाकी तख्तों, दुर्गियाना मंदिर तथा मलेरकोटला की मस्जिद को स्टेट जीएसटी का हिस्सा रिफंड किया जाएगा। उन्होने कहा कि यह काम अभी तक नही हुआ है। इसीलिए अच्छा होगा कि यह रिफंड तुम तत्काल जारी करवा दो। यदि इस संबध में अमृतसर के डीसी द्वारा कोताही की जा रही है, तो उसे तुरंत निलंबित किया जाए।

         इस बारे अन्य जानकारी देते हुए मजीठिया ने कहा कि एसजीपीसी अध्यक्ष द्वारा मुख्यमंत्री के दावों की पोल खोले जाने के बाद अमृतसर के डीसी ने कह दिया है कि इस साल का जीएसटी रिफंड शीघ्र ही एसजीपीसी को जारी कर दिया जाएगा। उन्होने बताया कि परंतु अगस्त 2017 से 2018 तक का 1.68करोड़ रूपए स्टेट जीएसटी रिफंड अभी तक बकाया ही रहेगा तथा इस बारे कोई सुचना नही दी गई कि यह राशि एसजीपीसी को कब जारी की जाएगी। उन्होने कहा कि  यह इस बात का सबूत है कि यदि केंद्रीय फूड प्रोसेंसिग मंत्री ने यह मुद्दा न उठाया होता तो जितनी आशिंक राशि दी जा रही है,यह भी नही देनी थी।

         यह टिप्पणी करते हुए कि कांग्रेस सरकार सिर्फ खानापूर्ति में विश्वास रखती है तथा इसने अभी तक कोई काम नही किया है, मजीठिया ने कहा कि हाल ही में सरकार ने डेरा बाबा नानक में एक कैबिनेट मीटिंग की थी, पर इसने शहर के लिए कुछ नही किया। उन्होने कहा कि नकली रोजगार मेलों में नौकरी देना तो दूर की बात है, सच्चाई यह है कि कल जब बेरोजगार नौजवान संगरूर में कांग्रेस सरकार को उनसे किए वादे याद करवाने के लिए एकत्र हुए थे तो उन पर बूरी तरह लाठी चार्ज किया गया। उन्होने कहा कि आगामी चुनावों में पंजाबी कांग्रेस सरकार को करारा सबक सिखाएंगे तथा चारो सीटों पर इसका सफाया करेंगे।


 


Sep 23 2019 7:28PM
state gst share on langar
Source: Punjab E News

Crime News

Leave a comment





शनि की साढ़ेसाती होने वाली है शुरू, किनको साढ़ेसाती से नुकसान और किसे मिलते है शुभ परिणाम: जाने --- राहुल गांधी के बयान पर लोकसभा में हंगामा, BJP सांसदों की मांग माफी मांगे --- ज्योतिष : शुक्र से आप के जीवन पर क्या पड़ता है प्रभाव, अपने वैवाहिक जीवन को कैसे बना सकते है सुखमय : पढ़े --- नागरिकता संशोधन बिल को पंजाब में लागू नहीं होने देंगे - कैप्टन अमरिन्दर सिंह --- खेल मंत्री की तरफ से जालंधर में अति आधुनिक खोज और विकास केंद्र स्थापित करने की घोषणा, खेलों के सामान के उद्योग को 1400 करोड़ रुपए से 14000 करोड़ तक ले जाने का लक्ष्य --- कैबिनेट सब कमेटी द्वारा आवारा पशुओं के खतरे से निपटने के लिए सभी विभागों द्वारा साझी कार्यवाही करने का न्योता