जालंधर जिले में खेती मशीनों पर मिलेगी 12 करोड़ की सबसिडी -जिलाधीश

subsidy for farmers

जालंधर जिले में खेती मशीनों पर मिलेगी 12 करोड़ की सबसिडी -जिलाधीश

Punjab E News :  पंजाब सरकार ने पराली को आग लगाने की बजाय खेतों में ही इसका निपटारा करने के उदेश्य से इस सीजन दौरान किसानों को अलग -अलग आधुनिक खेती यंत्रों पर12 करोड़ रुपए की सबसिडी देने का फैसला लिया है।

पंजाब के कृषि और किसान कल्याण विभाग ने किसानों को पराली को आग न लगाने के लिए जागरूकता अभियान शुरू किया हुआ है । पराली को खेतों में ही निपटाने के लिए सबसिडी पर दी जाने वाली मशीनरी के लिए आवेदको ने माँग की थी जिस के अंतर्गत जालंधर जिले में279 आवेदक निजी तौर पर और इतने ही किसान ग्रुपों ने सबसिडी के लिए अर्ज़ियाँ दीं है।

जिलाधीश वरिन्दर कुमार शर्मा ने बताया कि खेती विभाग जालंधर की तरफ से सभी अर्ज़ियाँ को मंज़ूर कर लिया गया है। उन्होनें बताया कि इन सीटू मैनेजमेंट प्रोगराम के अंतर्गत पंजाब सरकार ने पराली को खेतों में ही कतरन /मिलाने के लिए उच्च तकनीकी मशीनों पर निजी आवेदको को50 प्रतिशत जबकि किसान ग्रुपों को 80 प्रतिशत तक सबसिडी दी जाती है। उन्होनें बताया कि निजी तौर पर किसानों को हैपीसीडरपैडी स्टराय चोपरमलचर,हाइड्रोलिक रिवरसीबल,एम.बी.पलांटज़ीरो कोशिश ड्रिलसुपर एस.एम.एस,रोटरीसलैशर पर 50 प्रतिशत जबकि किसानों ग्रुपों या सहकारी सभाओं के अंतर्गत अप्लाई करने वाले किसानों को80 प्रतिशत सबसिडी दी जा रही है।

उन्होनें कहा कि पंजाब सरकार ने पराली के निपटारे के लिए पिछले कुछ सालों से किये जा रहे प्रयत्तनों से बढिया नतीजे सामने आए हैं। उन्होनें कहा कि जिला प्रशासन किसानों को पराली जलाने से ज़मीन की उपजाऊ शक्ति को होने वाले नुकसान के बारे में जानकारी दे रहा है ,साथ ही खेती यंत्रों पर80 प्रतिशत तक सबसिडी देने साथ पराली को आग लगाने में भी कमी आई है। 


Sep 5 2019 3:49PM
subsidy for farmers
Source: Punjab E News

Crime News

Leave a comment