फिरोज़पुर पुलिस ने छह घंटों के अंदर अगवा हुए 16 साल के बच्चे को परिवार को सौंपा

child kidnapping case ferozpur

फिरोज़पुर पुलिस ने छह घंटों के अंदर अगवा हुए 16 साल के बच्चे को परिवार को सौंपा

तीन दोषी गिरफ़्तार, एक फरार
अपहरणकर्ता माँग रहे थे 5 लाख की फिरौती
Punjab E News:-  फिऱोज़पुर पुलिस ने बुधवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) डॉ. नरिन्दर भार्गव के नेतृत्व में तीन व्यक्तियों को गिरफ़्तार कर अपहरण हुए 16 साल के बच्चे के मामले को छह घंटों से भी कम समय में सुलझा लिया है।
गिरफ़्तार किए गए व्यक्तियों की पहचान करण (23) निवासी अनाज मंडी फिऱोज़पुर, राज सिंह उर्फ रोहित (25) निवासी बस्ती बाग़ वाली फिऱोज़पुर और अमरजीत सिंह (22) निवासी गाँव तुनवाला, फिऱोज़पुर के रूप में हुई है। जबकि इनका चौथा साथी अकाश उर्फ जानी (23) निवासी बस्ती गोल बाग़ फिऱोज़पुर मौके से फऱार होने में कामयाब हो गया।
पुलिस ने काबू किए दोषियों के पास से दो पिस्तौलों समेत दो कारतूस, एक मोटरसाईकल, पीडि़त का ऐक्टिवा स्कूटर और तीन मोबाइल फ़ोन भी बरामद किए हैं।
इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए एसएसपी डॉ. भार्गव ने बताया कि फिऱोज़पुर के एडवोकेट संजू शर्मा ने फिऱोज़पुर पुलिस के पास शिकायत दर्ज करवाई थी कि उसका 16 साल का लडक़ा देव वीरम अपने ऐक्टिवा स्कूटर पर फिऱोज़पुर कैंट में ट्यूशन पढऩे के लिए गया था और घर वापस नहीं लौटा और उसका मोबाइल फ़ोन भी बंद था। उन्होंने बताया कि संजू शर्मा को वाट्सऐप पर एक वीडियो और ऑडियो से संदेश मिला था, जिसमें उसका लडक़ा कह रहा था कि उसका अपहरण कर लिया गया है और अपहरणकर्ता फिरौती की माँग कर रहे हैं। एसएसपी ने बताया कि उसे एक वाट्सऐप कॉल भी आई है, जिसमें कहा गया था कि यदि वह अपना बेटा वापस चाहती है तो 5 लाख रुपए का प्रबंध कर ले नहीं तो वह उसके बेटे को मार देंगे।

डॉ. भार्गव ने तुरंत कार्यवाही करते हुए एसपी इनवैस्टीगेशन मनविन्दर सिंह के नेतृत्व में चार टीमों का गठन किया। इन टीमों में डीएसपी इनवैस्टीगेशन जगदीश कुमार, सीआईए इंचार्ज इंस्पेक्टर जगदीश कुमार और नारकोटिक सैल के इंचार्ज इंस्पेक्टर परमिन्दर सिंह बाजवा और थाना सिटी के एसएचओ मनोज कुमार शामिल थे।
एसएसपी ने कहा कि तकनीकी सहायता और ख़ुफिय़ा जानकारी का प्रयोग करते हुए टीम ने छह घंटों से भी कम समय में बच्चे को ट्रेस करने और दोषियों को पकडऩे में कामयाबी हासिल की है।
उन्होंने बताया ‘‘रोहित और करण को मोटरसाईकल पर जाते हुए काबू किया गया, जबकि अमरजीत को गाँव डूमणी वाला में बने मवेशियों के बाड़े से गिरफ़्तार किया गया, जहाँ से बच्चा भी बरामद किया गया।’’ उन्होंने कहा कि चौथे मुलजिम की पहचान आकाश के तौर पर की गई है, जो गाँव डूमणी वाला से भागने में कामयाब हो गया था और जिसकी गिरफ़्तारी के लिए हर संभव प्रयास जारी हैं।
प्रारंभिक जाँच के दौरान उन्होंने लोगों के सामने यह दिखावा किया कि इस लडक़े ने उनकी बहन के साथ छेड़छाड़ की है, इस कारण वह उसे गलती मनवाने के लिए ले जा रहे हैं।
इस दौरान थाना सिटी फिऱोज़पुर में आइपीसी की धारा 364-ए, के अंतर्गत थाना फिऱोज़पुर में एफ.आई.आर नंबर 15 तारीख़ 12-01-2022 दर्ज की गई थी, जबकि आम्र्स एक्ट की धाराएं 25, 54, 59 बाद में जोड़ दी गई हैं। मुलजिमों को जल्दी ही अदालत में पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा।

जि़क्रयोग्य है कि करण, एफआईआर तारीख़ 04.09.2021 को आइपीसी की धारा 341 और 34 एवं आम्र्स एक्ट की 25/27/54/59 के अंतर्गत थाना सिटी फिऱोज़पुर में भी वांछित था।


Jan 13 2022 10:26AM
child kidnapping case ferozpur
Source: Punjab E News

Leave a comment