कर्ज माफी घोटाले पर पर्दा डालने के लिए कैप्टन ‘आप’ के खिलाफ कर रहे हैं बेतुकी बयानबाज़ी- चीमा

defaming farmers

कर्ज माफी घोटाले पर पर्दा डालने के लिए कैप्टन ‘आप’ के खिलाफ कर रहे हैं बेतुकी बयानबाज़ी- चीमा

कर्ज माफी के नाम पर 9500 करोड़ का कर्ज पंजाब के सिर चढ़ाया, मार्केट फीस और देहाती विकास फंड में की वृद्धि

आम आदमी पार्टी पहले दिन से किसानों और मजदूरों के साथ, संसद में बनेगी किसानों की आवाज

Punjab E News :-  कैप्टन अमरिंदर सिंह अपनी नाकामियों को छिपाने और भाजपा व बादलों के साथ आपसदारी कायम रखने के लिए आम आदमी पार्टी के बारे में बेतुकी बयानबाज़ी कर रहे हैं। यह बयान आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब के सीनियर नेता और पंजाब विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा ने देते कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह मुद्दे को उलझाने की बजाए किसानों और मजदूरों की कर्ज माफी के नाम पर किए घोटालों के बारे में स्थिति स्पष्ट करें।

     हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि आम आदमी पार्टी पहले दिन से किसानों और मजदूरों के साथ खड़ी है और पार्टी ने नरेंद्र मोदी सरकार की ओर से थोपे काले कृषि कानूनों का संसद के अंदर और सड़कों पर सरेआम विरोध किया है। उन्होंने कहा कि आज भी आम आदमी पार्टी पंजाब के प्रधान और सांसद भगवंत मान ने किसानों की ओर से जारी ‘पीपलज विप’ का स्वागत किया है और सभी सांसदों को संसद के अंदर किसानों की आवाज बुलंद करके काले खेती कानून वापस करवाने के लिए अपील भी की है। चीमा ने आगे बताया कि आम आदमी पार्टी की दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने अदालतों में चल रहे किसानों के मामलों में अपने वकील भेजने का फैसला किया है, जिससे अदालत में किसानों के हकों की आवाज बुलंद की जाए। 

       कर्ज माफी के मुद्दे पर कैप्टन अमरिंदर सिंह की अलोचना करते हरपाल सिंह चीमा ने कैप्टन सरकार साढ़े चार सालों से किसानों, खेत मज़दूरों और भूमि रहित किसानों के कर्जे माफ करने के फैसले ही कर रही है। उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब के 2 लाख 85 हज़ार से अधिक के खेत मजदूरों और भूमि रहित किसानों का 590 करोड़ रुपए का कर्ज माफ करने का ऐलान किया, जबकि इस कर्ज माफी के नाम पर कैप्टन सरकार ने मंडी बोर्ड से 700 करोड़ इक_े किए हैं। एक सर्वेक्षण की रिपोर्ट के अनुसार सूबे में एक खेत मजदूर परिवार के सिर 77,000 रुपए का कर्ज है, परन्तु कांग्रेस सरकार ने एक खेत मजदूर परिवार का केवल 20,000 रुपए का कर्ज ही माफ किया। इस तरह मजदूर परिवार के सिर पर करीब 57,000 रुपए के कजऱ्े की तलवार लटकी रहेगी। चीमा ने दोष लगाया कि कैप्टन सरकार का किसानों के कर्ज माफी की बात एक जुमला ही है, क्योंकि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किसान कर्ज माफी के नाम पर 9500 करोड़ रुपए कजऱ् लिया है, परन्तु किसानों का आधा कजऱ् भी माफ नहीं किया।    

       इस कर्ज माफी को कैप्टन अमरिंदर सिंह का नया घोटाला करार देते हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि कैप्टन सरकार ने कर्ज माफी के नाम पर वोट लेकर पहले पंजाब वासियों को लूटा, फिर 9500 करोड़ का कर्ज पंजाब के सिर ओर चढ़ा दिया और सूबे की मंडियों में मार्केट फीस और देहाती विकास फंड में एक एक प्रतिशत विस्तार करके महंगाई को बड़ा दिया। उन दोष लगाया कि कैप्टन सरकार ने माफिया राज के द्वारा पंजाब को लूटने का ही काम किया और पंजाब के खजाने को कर्जे में डुबा दिया है।


Jul 17 2021 5:08PM
defaming farmers
Source: Punjab E News

Leave a comment