सिख समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए हरीश रावत ने मांगी माफी

harish rawat apologizes from sikh community

सिख समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए हरीश रावत ने मांगी माफी

Punjab E News:पंजाब के कांग्रेस में हो रहे अंदरूनी विवाद को सुलझाने चंडीगढ़ पहुंचे प्रभारी हरीश रावत ने नवजोत सिद्धू और उनकी टीम के 4 वर्किंग प्रेसिडेंट्स की तुलना सिख धर्म के महान पंच प्यारों से कर दी थी। जिसके बाद इस मामले पर विवाद खड़ा हो गया है। वहीं कई नेताओं ने हरीश रावत के इस कमेंट को सिख भावनाओं के अपमान से जोड़ कर उनपर मुकदमा करने की भी बात कही है। जिसके चलते हरीश रावत ने अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट के जरिए इस शब्द के प्रयोग और सिख भावनाओं को आहत करने के लिए माफी मांगी है। उन्होंने अपने पोस्ट में लिखा की कभी- कभी आप किसी को सम्मान या आदर व्यक्त करते हुए कुछ ऐसे शब्दों का उपयोग कर देते हैं जो आपत्तिजनक होते हैं। मुझसे भी कल अपने माननीय अध्यक्ष व चार कार्यकारी अध्यक्षों के लिए पंज प्यारे शब्द का उपयोग करने की गलती हुई है। मैं देश के इतिहास का विद्यार्थी हूं और पंज प्यारों के अग्रणी स्थान की किसी ओर से तुलना नहीं की जा सकती है। मुझसे ये गलती हुई है, मैं लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए क्षमा प्रार्थी हूँ।

बता दें की इसके साथ ही हरीश रावत ने कहा कि मैं प्रायश्चित स्वरूप अपने राज्य के किसी गुरुद्वारे में कुछ देर झाड़ू लगाकर सफाई करूंगा। मैं सिख धर्म और उसकी महान परंपराओं के प्रति हमेशा समर्पित भाव और आदर भाव रखता रहा हूँ। उल्लेखनीय है की बीते दिन हरीश रावत ने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिद्धू और उनके चार वर्किंग प्रेसिडेंट्स से मुलाकात की थी। इस दौरान सभी की तुलना उन्होंने सिख धर्म के महान पंच प्यारों से की थी। 


Sep 1 2021 11:28AM
harish rawat apologizes from sikh community
Source: Punjab E News

Leave a comment