अकाली विधायकों ने इस अवसर पर ‘गर्वनर गो बैक’ के नारे लगाए

legislative group

अकाली विधायकों ने इस अवसर पर ‘गर्वनर गो बैक’ के नारे लगाए

शिरोमणी अकाली दल के विधायकों द्वारा केंद्रीय कानूनों को तीनों खेती कानूनों कों रदद करने से इंकार करने पर पंजाबियों तथा विधानसभा का अपमान करने पर विरोध किया

Punjab E News:-  शिरोमणी अकाली दल विधानक दल ने आज किसानों की भावनाओं को आवाज देनेे के लिए ‘गर्वनर गो बैक’ के नारे लगाए तथा साथ ही विधानसभा में श्री वी पी सिंह बदनौर ने पिछले विधानसभा सत्र में पारित केंद्रीय खेती कानूनों को रदद करने वाले तीनों विधेयकों को अपनी मंजूरी नही दी।

      विधानक दल ने विधानसभा के बाहर विरोध किया जब गर्वनर अपना अभिभाषण देने के लिए अगसत हाउस मे पहुंचे ,जिसके बाद उन्होने अपना अभिभाषण कम कर दिया।

      बाद में मीडिया को संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया ने कहा कि आज के विरोध ने कांग्रेस पार्टी का पर्दाफाश कर दिया जिससे साबित हो गया कि उनकी गर्वनर के साथ साथ केंद्र सरकार के साथ मिलीभगत है। उन्होने कहा कि विधायकों ने कांग्रेस पार्टी से राज्यपाल के खिलाफ संयुक्त विरोध शुरू करने की भी अपील की थी, जिन्होने विधानसभा सत्र के बाद उन सभी 115 विधायकों का अपमान किया था, जो केंद्रीय खेती अधिनियमों को मंजूरी के लिए रदद करने वाले तीन विधेयकों को सौंपने के लिए उनके पास गए थे। उन्होने कहा कि राज्यपाल विधेयकों को रदद करने सें इंकार कर रहे हैं जोकि पंजाबियों का अपमान है।

       मजीठिया ने पंजाब कांग्रेस तथा उसके अध्यक्ष सुनील जाखड़ के खिलाफ विरोध किया। उन्होने कहा कि यह सरासर पाखंड है कि पंजाब कांग्रेस सुबह राज्यपाल के खिलाफ एक हास्यास्पद विरोध करती है तथा बाद में उनके लिए शाही स्वागत के लिए लाल कालीन बिछाया ताकि वह अभिभाषण दे सके। उन्होने कहा कि अगर कांग्रेस पार्टी वास्तव में पेट्रोलियम की कीमतों में राज्य वैट भागफल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करना चाहती है तो उसे वित्तमंत्री के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करना चाहिए था। कांग्रेस सरकार को पहले पेट्रोल तथा डीजल पर खुद के टैक्स कम करने चाहिए।

       एक सवाल के जवाब में सरदार मजीठिया ने कहा कि राज्यपाल ने अभिभाषण के एक हिस्से जोकि केंद्र सरकार द्वारा खेती कानून को मंजूर न किए जाने के बारे था नही पढ़ा । इस दौरान विधानक दल के नेता शरनजीत सिंह ढ़िल्लों सहित सभी अकाली नेता भी उपस्थित थे, जिसमें उन्होने ‘तय मैच बंद मुर्दाबाद तथा तय मैच बंद करो ’ के नारे लगाए।


Mar 1 2021 8:28PM
legislative group
Source: Punjab E News

Leave a comment