कृषि कानूनों की वापसी के साथ-साथ देश को बड़े बदलाव की भी जरुरत है - गुरनाम चढूनी

return of agricultural laws the country also needs major changes gurnam chadhuni

कृषि कानूनों की वापसी के साथ-साथ देश को बड़े बदलाव की भी जरुरत है - गुरनाम चढूनी

Punjab E News:भारतीय किसान यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा कि जब तक तीनों कृषि कानून रद्द नहीं हो जाते तब तक आंदोलन जारी रहेगा। इसके साथ ही BJP की केंद्र सरकार कानून बनाकर सारे देश के किसानों की जान चंद पूंजीपतियों के हाथों में दे रही है। बता दें की गुरनाम सिंह चढूनी इस्माईलाबाद अनाज मंडी में किसान बचाओ, देश बचाओ महापंचायत को संबोधित करते हुए कहा कि तब तक लड़ेंगे जब तक उनकी जडें नहीं उखाड़ देंगे। ये तीनों कृषि कानून किसानों के लिए डेथ वारंट है। वे आखिर सांस तक आंदोलन लड़ेंगे।  

इसके साथ ही किसानों को संबोधित करते हुए गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा कि काले कानून आने से पहले देश व प्रदेश का किसान खुशहाल नहीं था। कानूनों से पहले भी किसान आत्महत्या करने पर मजबूर था। अब समय आ गया है कृषि कानूनों की वापसी के साथ-साथ देश को बड़े बदलाव की भी जरुरत है। चढूनी ने कहा कि जब किसान के हाथ में कलम होगी तभी वह अपने भविष्य व फसल के दामों को लेकर कानून बना सकता है। 


Sep 23 2021 4:12PM
return of agricultural laws the country also needs major changes gurnam chadhuni
Source: Punjab E News

Latest post

Political News

Crime News