चन्नी एस.सी घोटाला मामले में तुरंत कार्रवाई करें तथा धर्मसोत को गिरफ्तार करेः SAD

sc scholarship scam case

चन्नी एस.सी घोटाला मामले में तुरंत कार्रवाई करें तथा धर्मसोत को गिरफ्तार करेः SAD

भले ही चन्नी को हालात के अनुसार उम्मीदवार बनाया गया है, लेकिन उन्हे अनुसूचित जाति के खिलाफ की गई सभी गलतियों को सही करना चाहिए: श्री पवन कुमार टीनू

Punjab E News:-  शिरोमणी अकाली दल ने आज मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी से अनुरोध किया है कि वे शीघ्र राज्य के अनुसूचित जाति के छात्रों के भविष्य की रक्षा के लिए पूर्व समाज कल्याण मंत्री साधु सिंह धर्मसोत के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज करें।

    मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद श्री चन्नी को बधाई देते हुए शिरोमणी अकाली दल के प्रवक्ता पवन कुमार टीनू ने कहा कि भले ही चन्नी कांग्रेस आलाकमान द्वारा दलित मुख्यमंत्री के रूप में स्वतः पंसद नही थे और हालात के अनुसार उम्मीदवार बनाया गया है, लेकिन उन्हे इस अवसर का लाभ उठाना चाहिए और अनुसूचित जातियों , विशेष रूप से दलित छात्रों के खिलाफ की गई सभी गलतियों को सही करना चाहिए।

 पवन टीनू ने कहा कि नए मुख्यमंत्री को साधु सिंह धर्मसोत के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज करने का आदेश देना चाहिए और अनुसूचित जाति छात्रवृत्ति घोटाला मामले में उनकी गिरफ्तारी के आदेश देने चाहिए। दलित छात्रों के खिलाफ धर्मसोत द्वारा किए गए अपराधों को सरकार के पूर्व अतिरिक्त प्रधान सचिव द्वारा सौंपी गई रिपोर्ट में सूचीबद्ध किया गया है। वरिष्ठ आईएएस अधिकारी, जो उस समय समाज कल्याण विभाग के प्रशासनिक प्रमुख भी थे, ने धर्मसोत पर निजी संस्थानों को लाभ पहुचाने के लिए कई अन्य अनियमितताओं के अलावा 65 करोड़ रूपये का धन गबन करने का आरोप लगाया था। यह सच है कि श्री चन्नी ने कभी भी कैबिनेट मंत्री के रूप में दलित छात्रों के हक की बात नही की है। हालांकि अब समय आ गया है कि जैसा कि उन्होने प्रेस कांफ्रेंस में कहा है कि वह सभी माफियाओं को खत्म कर देंगें’’।

    अकाली नेता ने यह भी मांग की कि नए मुख्यमंत्री भी पिछले तीन साल से छात्रवृत्ति योजना के तहत अनुसूचित जाति छात्रों के 1800 करोड़ रूपये तत्काल जारी करने के आदेश दें। उन्होने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि पहले अनुसूचित जाति छात्रवृत्ति योजना के लिए भेजी गई केंद्रीय धनराशि का गबन किया गया था। ‘‘ अब भी जब यह योजना आंशिक रूप से वित्त पोषित हो गई हो , राज्य दलित छात्रों को योजना के हिस्से का हिस्सा जारी नही कर रहा है’’।

      चन्नी को यह कहते हुए कि ‘‘ आप इस महत्वपूर्ण मुददे पर तत्काल निर्णय लेने में देरी न करें। अनुसूचित जाति के छात्रों के 1800 करोड़ रूपये तत्काल जारी करने की अपील करते हुए अकाली नेता ने कहा कि यह अगले पखवाड़े मे ही जारी किए जाने चाहिए , क्योंकि दिसंबर में आदर्श आचार संहिता की घोषणा होने की उम्मीद है। उन्होने कहा कि नए मुख्यमंत्री को राजस्थान और मध्यप्रदेश की सरकारों से सबक लेना चाहिए, जिन्होने पूरी एस.सी छात्रवृत्ति योजना की जिम्मेदारी संभाली थी’’।


Sep 20 2021 7:35PM
sc scholarship scam case
Source: Punjab E News

Leave a comment