जितना चाहे जोर लगा लें, भगवान और लोगों के कोर्ट से बादलों को क्लीन चिट नहीं दिला सकते कैप्टन - हरपाल चीमा

sit quashed

जितना चाहे जोर लगा लें, भगवान और लोगों के कोर्ट से बादलों को क्लीन चिट नहीं दिला सकते कैप्टन - हरपाल चीमा

बादलों के साथ मिलकर कैप्टन ने रद्द करायी एसआईटी की जांच रिपोर्ट

गुटका साहिब की शपथ लेकर पंथ हितैषी बनने वालों का लोग हिसाब लेंगे

Punjab E News (Kuldeep, Chandigarh):-  आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और विधानसभा में नेता विपक्ष हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि हाईकोर्ट द्वारा बेअदबी और गोलीकांड से संबंधित एसआईटी की रिपोर्ट खारिज करने से बादलों के पाप के दाग नहीं धूले हैं, लेकिन कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार इस फैसले की आड़ में अकाली दल और बादलों पर लगे दाग को धोने का प्रयास कर रही है।

      चीमा ने कहा कि पंजाब के बच्चा-बच्चा को पता है कि गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी 2015 में एक साजिश के तहत की गई थी और सरकार के आदेश पर अज्ञात पुलिस ने विरोध करने वाले दो सिखों की गोली मारकर हत्या कर दी थी। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब के लोगों से वादा किया था कि वे सत्ता में आने के बाद बेअदबी और गोलीकांड में शामिल लोगों की सजा देंगे। लेकिन कैप्टन की सरकार को चार साल से ज्यादा बीत चुके है, पर एक भी अपराधी को दोषी नहीं ठहराया गया है। इसके बजाय, कैप्टन ने स्वयं एक विशेष जांच दल का गठन किया और उस जांच रिपोर्ट को अपने महाधिवक्ता अतुल नंदा के माध्यम से उच्च न्यायालय में खारिज करवाया।

      उन्होंने कहा कि इन सभी घटनाओं से पता चलता है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह बादल परिवार से मिले हुए हैं और मिलीभगत के तहत कैप्टन अमरिंदर सिंह, बादलों पर लगे बेअदबी और गोलीकांड के दाग धो रहे हैं। चीमा ने अमरिंदर सिंह से पूछा कि उन्होंने हाईकोर्ट के डबल बेंच में सिंगल बेंच के फैसले को चुनौती क्यों नहीं दी? इसके विपरीत, अमरिंदर सिंह सुप्रीम कोर्ट जाने की बात कर अपनी सरकार का कार्यकाल पूरा करना चाह रहे हैं। चीमा ने कहा कि अकाली दल और बादल बहुत खुश न हों क्योंकि यह लड़ाई उच्च न्यायालय की डबल बेंच से सुप्रीम कोर्ट तक लड़ी जाएगी।

     चीमा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी और अकाली दल के नेता पंजाब को कैलिफोर्निया और पेरिस बनाने की बात करते थे, लेकिन सत्ता में आने के बाद उन्होंने पंजाब के लोगों और संसाधनों को लूटा। पंजाब के लोग 2022 में कांग्रेस के झूठ का हिसाब लेंगे, जिन्होंने गुटका  साहिब की शपथ लेकर पंथ हितैषी होने का ढोंग किया।


Apr 25 2021 9:17PM
sit quashed
Source: Punjab E News

Leave a comment