5G कॉल का सफल हुआ परीक्षण, IT मंत्री वैष्णव ने की पहली कॉल

successful trial of 5g calls in the country

5G कॉल का सफल हुआ परीक्षण, IT मंत्री वैष्णव ने की पहली कॉल

Punjab E News (Nisha Panjalia):केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने आज IIT-मद्रास में 5G कॉल का सफल परीक्षण किया। 5G को भारत में ही डिजाइन और विकसित किया गया है। वैष्णव ने कू एप पर वीडियो पोस्ट करते हुए कहा, 'IIT मद्रास में 5G कॉल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया। पूरा एंड टू एंड नेटवर्क भारत में डिजाइन और विकसित किया गया है। 

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को स्वदेश निर्मित 5G टेस्ट बेड के राष्ट्र को समर्पित करते हुए कहा कि 21वीं सदी के भारत में कनेक्टिविटी देश की प्रगति को निर्धारित करेगा और इस दशक के अंत तक देश में 6G सेवायें भी शुरू की जाएगी, इसके लिए भी टास्क फोर्स काम करना शुरु कर चुकी है। मोदी ने दूरसंचार नियामक ट्राई के रजत जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा की ये सुखद संयोग है कि आज इस संस्था ने 25 साल पूरे किए हैं, तब देश आज़ादी के अमृतकाल में अगले 25 वर्षों के रोडमैप पर काम कर रहा है, नए लक्ष्य तय कर रहा है। थोड़ी देर पहले मुझे देश को अपना, स्वदेश निर्मित 5G टेस्ट बेड राष्ट्र को समर्पित करने का अवसर मिला है। ये टेलिकॉम सेक्टर में क्रिटिकल और आधुनिक टेक्नॉलॉजी की आत्मनिर्भरता की दिशा में एक अहम कदम है। मैं इस प्रोजेक्ट से जुड़े सभी साथियों को, आईआईटी को बधाई देता हूं।''

प्रधानमंत्री ने देश के युवाओं,शोधकर्ताओं और कंपनियों को इस टेस्टिंग फैसिलिटी का उपयोग 5G टेक्नॉलॉजी के निर्माण के लिए करने के वास्ते आमंत्रित करते हुए  कहा की हमारे स्टाटर् अप के लिए अपने प्रोडक्ट टेस्ट करने का ये बहुत बड़ा अवसर है। 5G आई के रूप में जो देश का अपना 5G स्टैंडर्ड बनाया गया है,वो देश के लिए बहुत गर्व की बात है। ये देश के गांवों में 5G टेक्नॉलॉजी पहुंचाने और उस काम में बड़ी भूमिका निभाएगा।'' उन्होंने कहा कि 21वीं सदी के भारत में कनेक्टिविटी, देश की प्रगति की गति को निर्धारित करेगी। इसलिए हर स्तर पर कनेक्टिविटी को आधुनिक बनाना ही होगा। इसकी बुनियाद का काम करेंगे आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण, आधुनिक टेक्नोलॉजी का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल। 5G टेक्नोलॉजी भी, देश की गवर्नेंस में,जीवनयापन में सुगमता, कारोबारी सुगमता इन अनेक विषयों में सकारात्मक बदलाव लाने वाली है।

इससे खेती,स्वास्थ्य,शिक्षा,इंफ्रास्ट्रक्चर और लॉजिस्टिक्स, हर सेक्टर में ग्रोथ को बल मिलेगा। इससे सुविधा भी बढ़ेगी और रोज़गार के भी नए अवसर बनेंगे। अनुमान है कि आने वाले डेढ़ दशक में 5G से भारत की अर्थव्यवस्था में 450 अरब डॉलर का योगदान होने वाला है। यानि ये सिफर् इंटरनेट की गति ही नहीं,बल्कि प्रगति और रोजगार सृजन की गति को भी बढ़ाने वाला है। इसलिए, 5G तेज़ी से शुरू किया जाए। इसके लिए सरकार और इंडस्ट्री,दोनों को पहल करने की जरूरत है। इस दशक के अंत तक हम 6G सर्विस भी लॉन्च कर पाएं,इसके लिए भी हमारी टास्क फोर्स काम करना शुरु कर चुकी है।


May 19 2022 11:58PM
successful trial of 5g calls in the country
Source: Punjab E News

Latest post

Political News

Crime News